जल शक्ति विभाग ने शुरू किए निर्माण कार्य, लाभान्वित हो रहे सैंकड़ों श्रमिक


जल पृथ्वी पर सर्वाधिक अमूल्य है तथा जीवन एवं अन्य आवश्यकताओं के लिए महत्वपूर्ण है। मानव जीवन के लिए स्वच्छ तथा सुरक्षित पेयजल अत्यन्त आवश्यक है तथा वर्तमान में कोविड-19 महामारी के दृष्टिगत स्वच्छ एवं सुरक्षित जल की आवश्यकता प्रासंगिक है। विश्व स्वास्थ्य संगठन के मानकों के अनुसार सभी को स्वच्छ एवं सुरक्षित पेयजल उपलब्ध करवाने तथा किसानों को सिंचाई योग्य पानी उपलब्ध करवाने के उद्देश्य से जल शक्ति विभाग जल भंडारण टैकों की मुरम्मत एवं रखरखाव सुनिश्चित बना रहा है। विभाग ग्रीष्म ऋतु के दृष्टिगत विभिन्न जल स्त्रोतों की सफाई, मुरम्मत एवं क्लोरीनेशन भी सुनिश्चित कर रहा है। लोगों को स्वच्छ एवं सुरक्षित पेयजल के विषय में जागरूक करने के लिए जल शक्ति विभाग जागरूकता कार्यक्रम भी आयोजित कर रहा है।
कोविड-19 के प्रति कर्मियों को किया जा रहा जागरूक
जिला सोलन में वर्तमान में कुल 795 जलापूर्ति योजनाएं कार्यरत हैं। इनमें से 318 योजनाएं सोलन मंडल, 227 योजनाएं नालागढ़ मंडल तथा 250 योजनाएं अर्की मंडल में लोगों को स्वच्छ जल तथा सिंचाई सुविधा उपलब्ध करवा रही हैं। कोविड-19 संक्रमण के दृष्टिगत जलशक्ति वृत सोलन ने सर्वप्रथम अपने सभी अधिकारियों एवं कर्मचारियों को प्रदेश सरकार द्वारा जारी विभिन्न नियमों से अवगत करवाया और उन्हें सोशल डिस्टेंसिंग नियम की अनुपालना के साथ-साथ क्षेत्रीय स्तर तक सेनेटाइजेशन एवं लगातार हाथ धोने के बारे में जागरूक किया। इसका उद्देश्य सभी कर्मियों की स्वास्थ्य सुरक्षा सुनिश्चित बनाना था।

जल भंडारणों को बनाया जा रहा स्वच्छ
विभाग के सोलन, नालागढ़ तथा अर्की मंडलों ने सर्वप्रथम विभिन्न पेयजल एवं जलापूर्ति योजनाओं के मुरम्मत एवं रखरखाव कार्यों को पूर्ण किया ताकि लोगों को दीर्घ अवधि में कोई समस्या न आए। सभी योजनाओं का भौतिक निरीक्षण किया गया। विभाग द्वारा तदोपरांत जलापूर्ति के लिए निर्मित भंडारण टैंकों की सफाई सुनिश्चित बनाई गई। जिला में कुल 1586 जल भंडारण टैंक हैं। पेयजल के लिए निर्मित टैंकों की मानक अनुसार क्लोरिनेशन की गई। विभाग ने विशेष रूप से ग्रामीण क्षेत्रों में हैंडपम्पों की मुरम्मत भी की ताकि ऐसी बस्तियों में पेयजल की कमी न हो जहां जलापूर्ति का मुख्य साधन हैंडपम्प है।

सोलन में 33 योजनाओं का कार्य शुरू, 240 श्रमिकों को मिला रोजगार
जल शक्ति वृत सोलन ने इन कार्यों के साथ-साथ निर्माण गतिविधियां भी आरंभ कीं। आवश्यक कार्यों के साथ-साथ निर्माणाधीन 33 योजनाओं का कार्य आरंभ किया गया। इन निर्माण कार्यों के माध्यम से अभी तक कुल 240 श्रमिकों को लाभान्वित किया गया है। सभी निर्माण कार्यों में सरकार द्वारा जारी आदेशों एवं सोशल डिस्टेंसिंग इत्यादि का पूर्ण ध्यान रखा गया है। सोलन मंडल में 4 निर्माणाधीन योजनाओं के माध्यम से 27, अर्की मंडल में 15 निर्माणाधीन योजनाओं के अन्तर्गत 81 तथा नालागढ़ जल शक्ति मंडल में 14 निर्माणाधीन योजनाओं के तहत 132 श्रमिकों को लाभान्वित किया गया है।

जलजनित रोगों के प्रति किया जा रहा जागरूक
जल शक्ति विभाग ने निर्माण कार्यों के अन्तर्गत इस संकट काल में भी अनुमति मिलते ही सत्त रूप से निर्माण करते हुए नालागढ़ उपमंडल के बद्दी शहर की 34 करोड़ रुपए की मल निकासी योजना का कार्य पूर्ण कर लिया है। नालागढ़ शहर की 17 करोड़ रुपये लागत की मल निकासी योजना का 95 प्रतिशत कार्य पूरा किया गया है। विभाग अपने इन मूलभूत कार्यों के साथ-साथ लोगों को ग्रीष्म ऋतु में होने वाले जलजनित रोगों के विषय में नियमित रूप से जागरूक कर रहा है। सभी को स्वच्छ पेयजल का महत्व और बीमारियों से बचाव के विषय में बताया जा रहा है। विभाग लोगों को जल की एक-एक बूंद को संरक्षित करने के सम्बन्ध में भी जागरूक बना रहा है।

Comments