22 मार्च को ‘‘जनता कर्फ्यू’’ का पालन करें : मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री श्री जयराम ठाकुर जी ने कोरोना वायरस के संबंध में प्रधानमंत्री के आह्वान को समर्थन देने का आग्रह किया

प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के राष्ट्र के नाम संबोधन के संबंध में मुख्यमंत्री श्री जयराम ठाकुर जी ने कहा है कि प्रधानमंत्री के संबोधन का उद्देश्य यह सुनिश्चित करना है कि देश में कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए प्रभावी कदम उठाए जाएं। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने देश के लोगों से यह संकल्प लेने का आग्रह किया है कि वे देश में कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए केंद्र सरकार द्वारा जारी निर्देशों और सलाह का पालन करेंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री ने देश के लोगों से भ्रामक सूचना फैलाने से परहेज करने का भी आग्रह किया है और कहा है कि 22 मार्च, 2020 को सुबह 7 से 9 बजे तक स्वयं लगाए गए जनता कर्फ्यू का भी पालन करें। इस समयावधि में घर के भीतर ही रहें। उन्होंने कहा कि यदि कोई आपात स्थिति न हो तो इस दिन लोगों को अपने घरों के अंदर ही रहना चाहिए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री ने लोगों से इस वायरस के खिलाफ सतर्क और सजग रहने का भी आग्रह किया है। उन्होंने देश के लोगों से यह आग्रह किया है कि वे देश में कोरोना वायरस के खिलाफ जंग लड़े रहे डाॅक्टरों, पैरामेडिकल स्टाफ, स्वच्छता कर्मचारियों और अन्य लोगों को प्रोत्साहित करने के लिए 22 मार्च को शाम 5 बजे अपने घरों की बालकनियों या दरवाजों से पांच मिनट तक घंटियां या ताली बजाएं। मुख्यमंत्री श्री जयराम ठाकुर जी ने कहा कि प्रधानमंत्री ने देश के लोगों से यह भी आग्रह किया है कि वे अस्पतालों पर अनावश्यक दबाव डालने से बचें और जहां तक संभव हो, मामूली चिकित्सा आपातकाल के समय डाॅक्टरों से फोन पर सलाह लें। उन्होंने लोगों से आवश्यक वस्तुओं की खरीद के लिए घबराहट में नहीं आने का अनुरोध किया है क्योंकि देश में आवश्यक वस्तुओं का पर्याप्त स्टाॅक उपलब्ध है।  मुख्यमंत्री ने राज्य के लोगों से प्रधानमंत्री द्वारा किए गए आह्वान को अपना पूरा समर्थन देने की अपील की है। उन्होंने कहा कि राज्य में आवश्यक वस्तुओं और दवाओं का पर्याप्त भंडार है और किसी को घबराने की जरूरत नहीं है।



Comments