बीड़-बिलिंग को बनाएंगे मुख्य साहसिक खेल गंतव्य : मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री श्री जयराम ठाकुर जी ने बैजनाथ में किए 50 करोड़ की विकास परियोजनाओं के शुभारंभ

‘‘नई राहें, नई मंजिले’’ योजना के अंतर्गत एशिया विकास बैंक की सहायता से कांगड़ा जिले के बीड़-बिलिंग को पर्यटन की दृष्टि से साहसिक खेल स्थल के रूप में विकसित किया जाएगा। क्षेत्र की जनता को लाभान्वित करने के लिए बैजनाथ में जल शक्ति मंडल भी खोला जाएगा। यह घोषणा आज मुख्यमंत्री श्री जयराम ठाकुर जी ने जिला कांगड़ा के बैजनाथ में जनसभा को संबोधित करते हुए की। उन्हांेने आज बैजनाथ विधानसभा क्षेत्र के अपने एक दिन के दौरे के दौरान 50 करोड़ रुपये की विकास परियोजनाओं का उद्घाटन कर जनता को समर्पित किया। तीन जल आपूर्ति योजनाओं का शिलान्यास किया गया है, जिससे लोगों को घरद्वार पर पेयजल की आपूर्ति होगी। उन्हांेने कहा कि इस क्षेत्र के विकास कार्य को पूरा करने के लिए पर्याप्त धनराशि उपलब्ध करवाई जाएगी।
दो वर्ष में जनता के स्नेह से हुआ प्रदेश का अभूतपूर्व विकास
मुख्यमंत्री श्री जयराम ठाकुर जी ने कहा कि प्रदेश में बीते दो वर्षों में अभूतपूर्व विकास हुआ है, जो प्रदेशवासियों के स्नेह के कारण संभव हो पाया है। धर्मशाला और पच्छाद विधानसभा क्षेत्रों के उपचुनावों में भारतीय जनता पार्टी ने बड़े अंतर से जीत हासिल की और कांग्रेस प्रत्याशियों की जमानत तक ज़ब्त हो गई। मुख्यमंत्री ने कहा कि यह कांगड़ा जिला का सौभाग्य है कि भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने पिछले दो वर्षों में दो बार यहां का दौरा किया। प्रदेश में निवेश के वातावरण की गारंटी देते हुए प्रधानमंत्री ने धर्मशाला में इन्वेस्टर्ज मीट के दौरान निवेशकों से हिमाचल में निवेशक करने का आह्वान किया था। उन्होंने कहा कि यह हैरानी की बात है कि विपक्ष के नेता राज्य के हितों की अनदेखी का आरोप लगाते हैं।
प्रदेशवासियों के लिए वरदान साबित हो रहीं राज्य सरकार की योजनाएं
मुख्यमंत्री श्री जयराम ठाकुर जी ने कहा कि केंद्र और राज्य की डबल ईंजन वाली सरकार हिमाचल प्रदेश को विकास के क्षेत्र में आदर्श राज्य स्थापित करने की ओर अग्रसर है। आयुष्मान भारत योजना से छूट गए 22 लाख लोगों को राज्य सरकार की हिमकेयर योजना के अंतर्गत पांच लाख रुपए प्रति वर्ष चिकित्सा सेवाआंे का लाभ दिया जा रहा है। इस योजना के अंतर्गत 58 हजार लोग लाभान्वित हुए हैं, जिस पर 58 करोड़ रुपये खर्च हुए हैं। इसी तरह उज्जवला योजना में कवर नहीं हुए परिवारों के लिए राज्य सरकार द्वारा गृहिणी सुविधा योजना आरंभ की गई है और आज हिमाचल प्रदेश देश का प्रथम धुआं रहित राज्य बना है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार गंभीर बीमारियों से ग्रसित रोगियों को दो हजार रुपये प्रतिमाह सहायता राशि के रूप में प्रदान कर रही है। आईजीएमसी शिमला और टांडा मेडिकल काॅलेज में किडनी ट्रांसप्लांट की सुविधा शुरू की गई है और ये दोनों संस्थान देश के अग्रणी चिकित्सा संस्थानों के रूप में पहचान बना रहे हैं।
जनमंच से किया 90 प्रतिशत शिकायतों का निपटारा
मुख्यमंत्री श्री जयराम ठाकुर जी कहा कि प्रदेश के विभिन्न भागों में 181 जनमंच कार्यक्रम आयोजित किए गए हैं। इनमें से 90 प्रतिशत शिकायतों का मौके पर ही निपटारा कर दिया गया और शेष शिकायतों को संबंधित विभागों को आगामी कार्रवाई के लिए भेजा गया है। इसके अतिरिक्त सरकार को जनता के नजदीक लाने और प्रदेशवासियों की समस्याओं के शीघ्र समाधान के लिए मुख्यमंत्री सेवा संकल्प हेल्पलाईन 1100 आरंभ की गई है।
पपरोला आयुर्वेदिक कॉलेज सभागार के निर्माण के लिए 1.50 करोड़ देगी सरकार
मुख्यमंत्री श्री जयराम ठाकुर जी ने कहा कि राज्य सरकार ने प्रदेश के आयुर्वेदिक काॅलेज पपरोला को एम्ज स्तर के अस्पताल में स्तरोन्नत करने के लिए भारत सरकार को अनापत्ति पत्र दे दिया है। मुख्यमंत्री ने पपरोला आयुर्वेदिक काॅलेज के सभागार के निर्माण के लिए 1.50 करोड़ रुपये देने की घोषणा की। उन्होंने बीड़ में पुलिस चैकी खोलने की भी घोषणा की। उन्होंने कहा कि इस क्षेत्र में रेलवे पुल के निर्माण का मामला भारत सरकार के समक्ष रखा जाएगा।  
करोड़ों की लागत वाले विकास कार्यों के शुभारंभ
मुख्यमंत्री श्री जयराम ठाकुर जी ने 3.26 करोड़ रुपये से स्तरोन्नत किए जाने वाले शीतला से साकरी सड़क के कार्य का भूमि पूजन किया। उन्होंने 3.51 करोड़ रुपये से बनने वाली नोहरा चकोल जलापूर्ति योजना, 9.52 करोड़ से साकरी में बनने वाली आईटीआई और 6.88 करोड़ रुपये से बनने वाली धनग जलापूर्ति योजना की आधारशिला रखी।
सेंटर ऑफ एक्सीलेंस फोर गेरिएट्रिक केयर शुरू
मुख्यमंत्री ने 8.38 करोड़ रुपये की लागत से आयुर्वेदिक महाविद्यालय पपरोला में बने सेंटर ऑफ एक्सीलेंस फोर गेरिएट्रिक केयर का शुभारंभ किया। उन्होंने जल जीवन मिशन के अन्तर्गत 3.03 करोड़ रुपये से बनने वाली टिक्करी सगुर और 11 करोड़ से बनने वाली रक्कड़ मझैरना जलापूर्ति योजना की आधारशिला भी रखी।
स्वास्थ्य मंत्री ने जताया मुख्यमंत्री का आभार
स्वास्थ्य मंत्री श्री विपिन सिंह परमार जी ने कांगड़ा जिला का अपना शीतकालीन प्रवास शिव भूमि बैजनाथ से शुरू करने के लिए मुख्यमंत्री का धन्यवाद किया। उन्होंने कहा कि पिछले दो वर्षों के दौरान राज्य में सन्तुलित और समान विकास हुआ है। आयुर्वेदिक महाविद्यालय पपरोला पूर्व मुख्यमंत्री श्री शांता कुमार जी का एक उपहार है और अब वर्तमान मुख्यमंत्री ने इस महाविद्यालय को आयुर्वेद एम्ज के रूप में स्तरोन्नत करना सुनिश्चित किया है। उन्होंने भारत सरकार की ‘‘आयुष्मान भारत योजना’’ के अन्तर्गत कवर नहीं होने वाले लोगों के लिए ‘‘हिमकेयर योजना’’ आरम्भ करने के लिए मुख्यमंत्री का धन्यवाद किया।
विधायक ने मुख्यमंत्री के समक्ष रखीं मांगें
स्थानीय विधायक श्री मुल्क राज प्रेमी जी ने क्षेत्र की विभिन्न विकासात्मक मांगें मुख्यमंत्री के समक्ष रखीं। उन्होंने कहा कि होली-उतराला सड़क का कार्य प्रगति पर है। नई राहें नई मंजिले योजना के अन्तर्गत बीड़ बिलिंग के लिए 6 करोड़ स्वीकृत करने के लिए उन्होंने मुख्यमंत्री का धन्यवाद किया। उन्होंने मुख्यमंत्री से क्षेत्र को पर्यटन की दृष्टि से विकसित करने का आग्रह किया और कहा कि इस क्षेत्र में सहासिक पर्यटन की आपार सम्भावनाएं हैं।

Comments