हिमाचल प्रदेश में माईगव पोर्टल का भव्य आगाज

मुख्यमंत्री श्री जयराम ठाकुर जी के जन्मदिवस पर ओकओवर और राज्य सचिवालय में लगा बधाई देने वालों का तांता
मुख्यमंत्री श्री जयराम ठाकुर जी ने आज हिमाचल माईगव पोर्टल का शुभारंभ किया। यह पोर्टल शासकीय प्रणाली में जनता की भागीदारी को सुदृढ़ करने में मील का पत्थर साबित होगा। माईगव पोर्टल भारत के विकास के लिए तकनीक की मदद से सरकार और नागरिकों के मध्य भागीदारी की नई अभिनव पहल है। इसका उद्देश्य प्रदेश सरकार में नागरिकों की भागीदारी को बढ़ावा देना है। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर सीएम ‘‘शिखर की ओर हिमाचल’’ ऐप का भी शुभारम्भ किया।
मुख्यमंत्री ने कहा कि माईगव हिमाचल प्रदेश के लोगों को अपने विचारों, सुझावों, प्रतिक्रियाओं और शिकायतों को सरकार तक पहुंचाने में सहायक होगा। प्रदेश सरकार रचनात्मक आलोचनाओं पर विचार करेगी तथा राज्य और देश की बेहतरी के लिए सभी सुझावों का समन्वय करेगी। उन्होंने कहा कि माईगव हिमाचल पोर्टल और मुख्यमंत्री ऐप के माध्यम से प्रशासन को लोगों के करीब लाने का एक प्रयास है। इससे सरकार और लोगों के मध्य परस्पर संवाद सुनिश्चित किया जा सकता है। हिमाचल प्रदेश इस पोर्टल की सुविधा प्रदान करने वाला देश का 11वां राज्य है।

पोर्टल के माध्यम से सरकार को दे सकेंगे सुझाव
मुख्यमंत्री श्री जयराम ठाकुर जी ने कहा कि हिमाचल माईगव पोर्टल की मुख्य विशेषताएं विभिन्न प्रकार की सार्वजनिक नीतियों के मुद्दांे पर बातचीत, चर्चा, कार्य, मत देना और ब्लाॅगस हैं। इस पोर्टल की मदद से नागरिक सरकार द्वारा जनता के कल्याण के लिए विभिन्न नीतियों और कार्यक्रमों की प्रत्यक्ष और त्वरित जानकारी हासिल कर सकेंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि पोर्टल के माध्यम से आम जनता भी नीतियों और कार्यक्रमों को अधिक प्रभावशाली और परिणाम उन्मुख बनाने के लिए अपने मूल्यवान सुझाव दे सकते हैं।
मुख्यमंत्री श्री जयराम ठाकुर जी ने कहा कि इससे पूर्व प्रदेश सरकार ने जनता को उनकी समस्याओं के समाधान और सामाजिक महत्व के विभिन्न मुद्दों को उठाने के लिए ‘‘मुख्यमंत्री सेवा संकल्प हेल्पलाइन-1100’’ का शुभारंभ किया था। उन्हांेने कहा कि प्रदेश की जनता सीएम ऐप के माध्यम से उनकी शिकायतों को सीधे मुख्यमंत्री को लिख सकेंगे। उन्होंने कहा कि विभिन्न योजनाओं के मध्य सामंजस्य स्थापित करने में मददगार सिद्ध होगी।

जनता को सरकार के करीब लाएगा माईगव पोर्टल : सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री
प्रदेश कृषि व सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री डाॅ. रामलाल मारकंडा जी ने कहा कि हिमाचल माईगव पोर्टल और मुख्यमंत्री ऐप के माध्यम से सरकार प्रदेश की जनता के और अधिक करीब आएगी। लोगों को प्रदेश सरकार द्वारा उनके कल्याण के लिए आरंभ की गई योजनाओं और कार्यक्रमों के बारे में जानकारी प्राप्त करने का अधिकार है। इस मौके पर प्रधान सचिव सूचना एवं प्रौद्योगिकी श्री जे.सी शर्मा ने मुख्यमंत्री व अन्य गणमान्यों का स्वागत किया। माईगव केंद्र सरकार के सीईओ श्री अभिषेक सिंह जी ने पोर्टल के संबंध में प्रस्तुति दी तथा पोर्टल की बारीकियों एवं फायदे से अवगत करवाया।


अपने जन्मदिवस पर मुख्यमंत्री ने लिया कई सामाजिक गतिविधियों में हिस्सा
मुख्यमंत्री श्री जयराम ठाकुर जी का 55वां जन्म दिवस आज हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। समाज के विभिन्न क्षेत्रों से सम्बन्ध रखने वाले लोगों ने मुख्यमंत्री के सरकारी आवास ‘ओक-ओवर’ पहंुचकर उनको उत्तम स्वास्थ्य और दीर्घायु के लिए शुभकानाएं दीं। मुख्यमंत्री की धर्मपत्नी और राज्य रैडक्रास अस्पताल कल्याण शाखा की अध्यक्ष डाॅ. साधना ठाकुर जी भी इस अवसर पर उपस्थित रहीं। प्रदेश मंत्रिमंडल के सदस्यों, विधायकांे, विभिन्न बोर्डों और निगमों के अध्यक्ष और उपाध्यक्ष, वरिष्ठ प्रशासनिक एवं पुलिस अधिकारियों और प्रदेश के विभिन्न हिस्सों से आए हजारों लोगों ने मुख्यमंत्री को जन्मदिन की बधाई दी। मुख्यमंत्री ने दि रिज पर भारतीय जनता युवा मोर्चा द्वारा आयोजित रक्तदान शिविर का शुभारम्भ किया।

आईजीएमसी शिमला में डिजिटल सबस्ट्रैक्शन एंजियोग्राफी मशीन का लोकार्पण
इसके पश्चात् मुख्यमंत्री श्री जयराम ठाकुर जी ने आईजीएमसी, शिमला में 10 करोड़ रुपये लागत की डिजिटल सबस्ट्रैक्शन एंजियोग्राफी (डीएसए) मशीन का लोकार्पण किया। डिजिटल सबस्ट्रैक्शन एंजियोग्राफी मशीन का उपयोग ब्रेन स्ट्रोक, कैंसर, फेफड़े, आंत, गर्भाशय और गुर्दे के रक्तस्त्राव जैसे विकारों के निदान और उपचार के लिए किया जाता है। इस मशीन के स्थापित होते ही लोगों को राज्य में ही डिजिटल सबस्ट्रैशन एंजियोग्राफी की सुविधा प्राप्त होगी। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर दिव्यांग बच्चों को व्हीलचेयर भी वितरित कीं। शिक्षा मंत्री श्री सुरेश भारद्वाज, स्वास्थ्य मंत्री श्री विपिन सिंह परमार, शहरी विकास मंत्री श्रीमती सरवीन चैधरी और मुख्यमंत्री के राजनीतिक सलाहकार श्री त्रिलोक जमवाल भी इस अवसर पर मौजूद थे।

ग्रामीण क्षेत्रों के लोगों के सशक्तिकरण के शुरू की योजनाएं
मुख्यमंत्री श्री जयराम ठाकुर जी ने आज ग्रामीण क्षेत्रों के लोगों के सशक्तिकरण के उद्देश्य से तीन नई ग्रामीण विकास योजनाओं का शुभारम्भ किया। इनमें मुख्यमंत्री ग्राम कौशल योजना, अन्तोदय मिशन के अन्तर्गत उत्थान और मासिक धर्म के दौरान महिलाओं के प्रति सहानुभूतिपूर्ण व्यवहार (डेवल्प एम्पैथी फोर मेनस्ट्रुअल वोमेन थू्र इन्फोरमेशन) अर्थात् ‘‘देवी’’ शामिल हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री ग्राम कौशल योजना राज्य में शिल्पकारों व कारीगरों को परंपरागत कलाओं, हस्तशिल्प व हथकरघा के संरक्षण को प्रोत्साहित करने के साथ-साथ युवाओं को इन परम्परागत कलाओं को जानने व समझने के लिए प्रेरित करेगी।
मुख्यमंत्री श्री जयराम ठाकुर जी ने कहा कि उपायुक्तों की अनुशंसा के आधार पर प्रदेश में 5000 अत्यंत निर्धन परिवारों और 95 हजार बीपीएल परिवारों को अंतयोदय मिशन कार्यक्रम के तहत उत्थान योजना में शामिल किया जाएगा। उन्होंने कहा कि ‘‘देवी’’ कार्यक्रम के अंतर्गत महिलाओं को स्वच्छता के बारे में जागरूक किया जाएगा। मुख्यमंत्री ने नोफल वैलफेयर एंड चैरिटेबल सोसायटी गुरूद्वारा पीजीआई, चंडीगढ़ द्वारा दीन दयाल उपाध्याय अस्पताल शिमला में आयोजित लंगर में सेवा भी की।


मुख्यमंत्री ने "मुख्यमंत्री सेवा संकल्प हेल्पलाइन-1100" कार्यालय का दौरा किया

मुख्यमंत्री श्री जयराम ठाकुर जी ने आज यहां टुटीकण्डी में नगर निगम की पार्किंग में स्थापित मुख्यमंत्री सेवा संकल्प हेल्पलाइन-1100 कार्यालय का दौरा किया। उन्होंने कहा कि यह हेल्पलाइन लोगों की समस्याओं के समाधान में बहुत उपयोगी सिद्ध हो रही है। इससे लोगों को घर बैठे ही ऑनलाईन अपनी शिकायत दर्ज कराने की सुविधा मिली है और सरकारी कार्यालयों में लोगों की संख्या घट गई है। उन्होंने कहा कि इस सेवा से लोगों के समय और धन की बचत भी हो रही है। उनकी समस्याओं का निवारण बिना विलम्ब किया जा रहा है क्योंकि सभी अधिकारियों की जिम्मेदारी निर्धारित की गई है। यही नहीं शिकायत का निवारण करने के उपरान्त शिकायतकर्ता की सन्तुष्टी पर भी ध्यान दिया जा रहा है।

जय राम ठाकुर ने मुख्यमंत्री सेवा संकल्प हेल्पलाइन योजना की निर्देशिका को भी जारी किया। सूचना प्रौद्योगिकी विभाग के प्रधान सचिव श्री जे.सी. शर्मा ने हेल्पलाइन के बारे में विस्तापूर्वक जानकारी दी। निदेशक सूचना प्रौद्योगिकी श्री रोहन चन्द ठाकुर ने हेल्पलाइन की प्रगति पर एक प्रस्तुति दी।





Comments