मुख्यमंत्री श्री जयराम ठाकुर जी ने आज सरदार वल्लभभाई पटेल जी की जयंती पर उनको श्रद्धांजलि अर्पित की,और राष्ट्रीय एकता की शपथ दिलाई




मुख्यमंत्री श्री जय राम ठाकुर जी ने आज देश के प्रथम केन्द्रीय गृह मंत्री सरदार वल्लभभाई पटेल जी की 144वीं जयंती के अवसर पर आज यहां राज्य सचिवालय परिसर में पुष्पांजलि अर्पित की। मुख्यमंत्री जी ने कहा कि यह दिन देशभर में राष्ट्रीय एकता दिवस के रूप में मनाया जाता है और हमें देश की एकता, अखण्डता और सुरक्षा के लिए वास्तविक और संभावित खतरों का सामना करने के लिए देश की ताकत और प्रतिबद्धता की पुष्टि करने का अवसर प्रदान करता है।


मुख्यमंत्री श्री जय राम ठाकुर जी ने आगे अपनी बात रखते हुए कहा कि आज भारत सरदार वल्ल्भ भाई पटेल जी के कारण ही एकजुट है, क्योंकि उन्होंने देश को स्वतंत्रता मिलने के बाद लगभग 562 रियासतों के विलय का अंसम्भव कार्य किया था। स्वतंत्र भारत में राष्ट्रीय एकता के लिए उनकी प्रतिबद्धता सम्रग और अटल थी और इसी कारण उन्हें ‘भारत के लौह पुरूष’ की उपाधि प्राप्त हुई। उन्होंने कहा कि पहले केन्द्रीय गृह मंत्री और भारत के उप प्रधान मंत्री के रूप में सरदार पटेल ने पाकिस्तान से पंजाब और दिल्ली में आए शरणार्थियों के लिए राहत प्रदान करने के साथ-साथ अथक परिश्रम के साथ शान्ति बहाल करने में महत्वपूर्ण योगदान दिया।

आगे उन्होंने कहा कि सरदार पटेल के राष्ट्र के प्रति दिए गए अपार योगदान के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने गुजरात में सरदार पटेल का विश्व की सबसे ऊॅंची 182 मीटर प्रतिमा स्थापित करवाई, जिसे ‘स्टैच्यू ऑफ  यूनिटी’ के नाम से जाना जाता है और पर्यटकों के लिए सबसे बड़े आकर्षण के रूप में उभरी है।


मुख्यमंत्री जी ने इस अवसर पर राज्य सचिवालय के अधिकारियों व कर्मचारियों को राष्ट्रीय एकता की शपथ भी दिलाई।शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज जी ने भी इस अवसर पर अपने विचार व्यक्त किए।मुख्य सचिव डाॅ. श्रीकान्त बाल्दी, महापौर कुसुम सदरेट, अतिरिक्त मुख्य सचिव, सचिव,  हिमाचल प्रदेश सचिवालय के अन्य वरिष्ठ अधिकारी तथा कर्मचारी इस अवसर पर उपस्थित थे।


इससे पूर्व, मुख्यमंत्री श्री जयराम ठाकुर जी ने शिमला के रिज पर पूर्व प्रधानमंत्री श्रीमती इन्दिरा गांधी की 35वीं पुण्यतिथि के अवसर पर पुष्प अर्पित कर श्रद्धांजलि अर्पित की।  

Comments