माताओं और शिशुओं को पर्याप्त पोषाहार प्रदान करने के लिए हिमाचल सरकार प्रतिबद्ध : मुख्यमंत्री

महिला एवं बाल कल्याण निदेशालय, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग द्वारा बेटी बचाओ, बेटी पढाओ और पोषण अभियान के अंतर्गत आयोजित सम्मान तथा पुरस्कार वितरण समारोह की अध्यक्षता करते हुए मुख्यमंत्री श्री जयराम ठाकुर जी ने कहा कि भारत 21वीं शताब्दी में तीव्र गति से आगे बढ़ रहा है, परन्तु देश की कुछ आबादी उचित पोषण से वंचित है। मुख्यमंत्री ने कहा कि हिमाचल प्रदेश ने नवजात शिशुओं, धात्री और गर्भवती महिलाओं को उचित आहार और पोषण उपलब्ध करवाने में उल्लेखनीय प्रगति की है। इसका श्रेय महिला एवं बाल कल्याण निदेशालय, पंचायती राज संस्थाओं और धरातल पर क्रियाशील संस्थाओं को प्रभावी ढंग से कार्य करने के लिए जाता है। मुख्यमंत्री ने कहा कि पोषण अभियान का शुभारंभ गत वर्ष मार्च माह में झुनझुनू राजस्थान से किया था। सरकार नवजात शिशुओं को पोषक आहार प्रदान कर स्वस्थ राष्ट्र बनाने के लिए प्रयासरत है। उन्होंने कहा कि हिमाचल के शिमला, ऊना, कांगड़ा और कुल्लू जिलों ने राष्ट्रीय स्तर पर बेटी बचाओ, बेटी पढाओ अभियान 2018-19 के लिए पुरस्कार प्राप्त किए है।
मुख्यमंत्री श्री जयराम ठाकुर जी ने कहा कि आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं के परिश्रम को ध्यान में रखते हुए राज्य सरकार ने आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को 1800 रुपये, मिनी आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को 1100 रुपये और सहायिकाओं को 900 रुपये का प्रति माह का अतिरिक्त मानदेय दे रही हैं। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने पर्यवेक्षकों के पद से बाल विकास परियोजना अधिकारियों के पदों पर पदोन्नति करने के लिए भर्ती व पदोन्नति नियमों में 25 प्रतिशत का प्रावधान किया है ताकि पर्यवेक्षकों को पदोन्नति के अवसर प्राप्त हो सके।
विशेष खिलाड़ियों को किया सम्मानित
मुख्यमंत्री श्री जयराम ठाकुर जी ने दिव्यांग बच्चे, जिन्होंने मार्च, 2019 में आबुधाबी में आयोजित विशेष ओलम्पिक वैश्विक ग्रीष्मकालीन प्रतिस्पर्धा के दौरान पदक हासिल किए थे को 5.25 लाख रुपये के नकद ईनाम वितरित किए। उन्होंने जिला ऊना के रघुनाथ सिंह को 1.25 लाख रुपये और जिला बिलासपुर के शुभम को साईकलिंग के लिए एक लाख रुपये का नकद ईनाम, जिला मंडी की निशा धवन को एथेलेटिक्स के लिए 75 हजार रुपये, जिला बिलासपुर की पूजा कुमारी को पॉवर लिफ्ंिटग के लिए 75 हजार रुपये, जिला मंडी के विनोद कुमार और अभिषेक कुमार को वॉलीबाल के लिए 50-50 हजार रुपये और जिला मंडी के चिराग को बास्केटबॉल के लिए 50 हजार रुपये के पुरस्कार वितरित किए।
सरकार ने समाज के पिछड़े वर्गों के लिए शुरू की हैं कल्याणकारी योजनाएं
सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री डॉ. राजीव सैजल जी ने कहा कि प्रदेश सरकार मुख्यमंत्री श्री जयराम ठाकुर जी के गतिशील नेतृत्व में समाज के कमजोर वर्गों के उत्थान के लिए प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने पिछले डेढ़ वर्षों में समाज के पिछड़े वर्गों के सामाजिक-आर्थिक उत्थान के लिए विभिन्न कल्याणकारी योजनाएं आरम्भ की हैं। अतिरिक्त मुख्य सचिव सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता श्रीमती निशा सिंह ने कहा कि हाल ही में राज्य के तीन जिलों शिमला, सिरमौर और मण्डी को बेटी बचाओ, बेटी पढाओ और पोषण अभियान के अन्तर्गत उल्लेखनीय कार्य के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। इस वर्ष 14 से 21 मार्च तक आबुधाबी में आयोजित विशेष ओलम्पिक वैश्विक ग्रीष्मकालीन प्रतिस्पर्धा के दौरान प्रदेश के 7 विद्यार्थियों ने पदक हासिल किए। उन्होंने विभाग की विभिन्न गतिविधियों की पावर प्वाईंट प्रस्तुति भी दी। महिला एवं बाल विकास विभाग की निदेशक कृतिका कुल्हारी जी ने धन्यवाद प्रस्ताव प्रस्तुत किया।


Comments