20 नहीं अब 50 लाख रुपए मिलेगी खेल अनुदान राशि, मुख्यमंत्री ने की घोषणा

मुख्यमंत्री श्री जयराम ठाकुर जी ने आज सिराज विधानसभा क्षेत्र के जंजैहली में राज्य स्तरीय लड़कियों की अंडर-19 खेलों का शुभारम्भ किया। इस अवसर पर उन्होंने स्कूल स्तर पर खेलों के आयोजन के लिए खेल अनुदान राशि को 20 लाख रुपये से बढ़ाकर 50 लाख रुपये तथा खिलाड़ियों की भोजन राशि को 60 रुपये प्रतिदिन से बढ़ाकर 100 रुपये प्रतिदिन करने की घोषणा की। मुख्यमंत्री ने कहा कि खेल गतिविधियां हमारे जीवन का महत्वपूर्ण हिस्सा है, जिससे व्यक्ति का सर्वांगीण विकास होता है। उन्होंने कहा कि यह देख कर खुशी होती है कि लड़कियां खेल क्षेत्र में कड़ी मेहनत कर स्कूल तथा राज्य स्तर पर उपलब्धियां हासिल कर रही हैं। उन्होंने कहा कि लड़कियां शिक्षा, खेल व राजनीति में बेहतर प्रदर्शन कर रही हैं। बेटियां साबित कर रही हैं कि वह लड़कों से कहीं कम नहीं हैं। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने लड़कियों के उत्थान के लिए अनेक योजनाएं शुरू की हैं तथा सरकार ने शिक्षा के क्षेत्र में भी अनेक योजनाएं शुरू की हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार ने 500 मेधावी छात्राओं को प्रतियोगिता परीक्षा की तैयारी करने के लिए हर छात्रा को एक लाख रुपये देने के लिए ‘मेधा प्रोत्साहन योजना’ शुरू की है। उन्होंने कहा कि खेल के क्षेत्र में आगे बढ़ने के लिए राज्य में बहुत कुछ करने की जरूरत है।
खेल क्षेत्र में भी आगे बढ़े विद्यार्थी
मुख्यमंत्री श्री जयराम ठाकुर जी ने कहा कि स्वस्थ शरीर में ही स्वस्थ दिमाग बसता है, इसलिए विद्यार्थियों को चाहिए कि वे खेल के क्षेत्र में आगे बढ़े। उन्होंने कहा कि सरकार प्रदेश में खेल गतिविधियों को बढ़ावा देने के लिए हर संभव सहायता प्रदान करेगी। उन्होंने कहा कि सिराज के लोगों ने विधानसभा व लोकसभा चुनावों के दौरान उनका पूरी तरह से साथ दिया था। जंजैहली क्षेत्र को पर्यटन की दृष्टि से विकसित किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला जंजैहली में विज्ञान खंड का निर्माण करने के लिए 1.50 करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे। उन्होंने पाठशाला की चारदिवारी के निर्माण के लिए 10 लाख रुपये देने की घोषणा की।

स्कूलों व अस्पतालों में लगेंगी सोलर लाईट्स
मुख्यमंत्री श्री जयराम ठाकुर जी ने कहा कि जंजैहली में संयुक्त कार्यालय भवन का निर्माण किया जाएगा जिससे जंजैहली के सभी कार्यालय एक छत के नीचे कार्य कर सकेंगे। उन्होंने कहा कि स्थानीय लोगों व पर्यटकों की सुविधा के लिए जंजैहली में टैक्सी स्टैंड का निर्माण किया जाएगा। उन्होंने कहा कि अस्पताल परिसरों और स्कूलों के लिए 20 सोलर लाईटस उपलब्ध करवाई जाएंगी। उन्होंने कहा कि जंजैहली में इंडोर स्टेडियम के निर्माण के लिए प्रयास किए जाएंगे।
शिकारी माता उत्कृष्ट माता योजना के तहत किया सम्मानित
मुख्यमंत्री श्री जयराम ठाकुर जी ने कहा कि जंजैहली के नागरिक अस्पताल में वर्धमान ग्रुप द्वारा 18 लाख रुपये की लागत से अल्ट्रासांउड की सुविधा करवाई गई है, जिससे क्षेत्र के 70 हजार से अधिक लोगों को लाभ होगा, जिन्हें इस सुविधा के लिए लगभग 100 किलोमीटर दूर जाना पड़ता था। उन्होंने शिकारी माता उत्कृष्ट माता योजना के तहत क्षेत्र के उत्कृष्ट विद्यालय के विजेताओं को पुरस्कार भी वितरित किए तथा गृहिणी सुविधा योजना के लाभार्थियों को निशुल्क गैस कनेक्शन भी बांटे। बाद में उन्होंने बाखली खड्ड पर 2.21 करोड़ रुपये से बनने वाले वाहन योग्य पुल का शिलान्यास भी किया। सहायक निदेशक शिक्षा पी एस धौलटा ने मुख्यमंत्री का स्वागत किया और खेलों के दौरान आयोजित की जाने वाली विभिन्न गतिविधियों की रिपोर्ट प्रस्तुत की। उन्होंने कहा कि लगभग 693 लड़किया खेलों में हिस्सा ले रही है।
मुख्यमंत्री ने थुनाग में बागवानी महाविद्यालय और बागवानी रिसर्च एवं विस्तार उत्कृष्ट केंद्र का किया शुभारंभ
मुख्यमंत्री श्री जयराम ठाकुर जी ने आज जिला मंडी के थुनाग में बागवानी महाविद्यालय और बागवानी रिसर्च एवं विस्तार उत्कृष्ट केंद्र का शुभारंभ किया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि बीएससी (ऑनर्स) बागवानी का पहला बैच भी इसी शिक्षा सत्र से शुरू कर दिया गया है और महाविद्यालय में इस विषय में 69 छात्रों ने दाखिला लिया है। उन्होंने कहा कि यह संस्थान बागवानी क्षेत्र में रिसर्च का प्रचार प्रसार करने और बागवानों को आधुनिक तकनीक से उत्पादन को बढ़ाने के अवसर उपलब्ध करवाने में सहायक सिद्व होगा।
मुख्यमंत्री श्री जयराम ठाकुर जी ने कहा कि यह क्षेत्र बागवानी के क्षेत्र में सेब उत्पादन के अतिरिक्त पुष्प उत्पादन के लिए भी महत्त्वपूर्ण है। यह महाविद्यालय इस क्षेत्र में बागवानी गतिविधियों को बढ़ावा देने में अहम भूमिका निभाएगा। उन्होंने कहा कि यह बड़े हर्ष की बात है कि डॉ. वाई.एस. परमार बागवानी एवं वाणिकी विश्वविद्यालय ने देश के 900 विश्वविद्यालयों में से 80वां स्थान प्राप्त किया है। उन्होंने कहा कि यह महाविद्यालय, राज्य के बागवानी विश्वविद्यालय के तहत तीसरा बागवानी महाविद्यालय है। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार इस महाविद्यालय को प्रदेश का अग्रणी महाविद्यालय बनाने के लिए हरसंभव सहायता प्रदान करेगी। उन्होंने कहा कि यह महाविद्यालय बागवानी एवं वानिकी के क्षेत्रों में शोध कार्य में भी सहायता प्रदान करेगा। उन्होंने कहा कि इस महाविद्यालय में वानिकी कोर्स आरम्भ करने की संभावनाओं को खोजा जाएगा।

मुख्यमंत्री श्री जयराम ठाकुर जी ने इस अवसर पर महाविद्यालय के छात्रों से भी बातचीत की। डॉ. वाई.एस. परमार बागवानी एवं वानिकी विश्वविद्यालय के कुलपतिडॉ. परविन्द्र कौशल ने इस अवसर पर मुख्यमंत्री व अन्य गणमान्यों का स्वागत करते हुए कहा कि बागवानी विश्वविद्यालय एवं बागवानी शोध व विस्तार उत्कृष्टता केन्द्र प्रदेश के विद्यार्थियों को गुणवत्ता शिक्षा प्रदान करेगा। उन्होंने कहा कि इस  महाविद्यालय में प्रदेश के लगभग सभी जिलों के विद्यार्थी शिक्षा ग्रहण कर रहे हैं। उन्होंने मुख्यमंत्री से महाविद्यालय में आधुनिक पुस्तकालय के निर्माण के लिए उदार वित्तीय सहायता प्रदान करने का आग्रह किया। इससे पहले, मुख्यमंत्री ने थुनाग में 2.13 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित होने वाली उठाऊ सिंचाई योजना पखरियार की आधारशिला रखी। उपायुक्त मण्डी रूगवेद ठाकुर, पुलिस अधीक्षक गुरदेव शर्मा सहित अन्य गणमान्य व्यक्ति भी इस अवसर पर उपस्थित थे।

Comments

Post a Comment