महापुरूषों के योगदान को हमेशा याद रखे समाज : मुख्यमंत्री


मुख्यमंत्री श्री जयराम ठाकुर जी ने कहा है कि यह चिंता का विषय है कि जीवन की भागदौड़ में हम, उन महानुभावों के योगदान को याद करने के लिए समय नहीं निकाल पा रहे हैं, जिन्होंने अपने समय में विषम परिस्थितियों में समाज के उत्थान में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। उन्होंने कहा कि हमें अपनी वर्तमान पीढ़ी तथा आने वाली पीढ़ियों को अपने महापुरूषों के जीवन संघर्ष और उनके योगदान के बारे में विस्तार से बताना चाहिए ताकि उन्हें अपने समाज, प्रदेश तथा देश के हित में कार्य करने की प्रेरणा मिलती रहे।
मुख्यमंत्री आज राजपूत कल्याण सभा, हिमाचल प्रदेश द्वारा महाराणा प्रताप की 480वीं जयंती के अवसर पर विख्यात शक्तिपीठ चामुण्डा के समीप धर्मगिरि में राजपूत कल्याण ट्रस्ट द्वारा आयोजित वार्षिक समारोह में बोल रहे थे। इससे पूर्व उन्होंने राजपूत कल्याण सभा ट्रस्ट के तत्वावधान में निर्माणाधीन महाराणा प्रताप इन्टरनेशनल स्कूल के परिसर की आधारशिला रखी। इस महत्वकांक्षी महाराणा प्रताप इन्टरनेशनल स्कूल के निर्माण हेतु धर्मगिरि मठ के महंत कर्मगिरि ने 50 कनाल भूमि दान में दी है।
मुख्यमंत्री श्री जयराम ठाकुर जी ने महाराणा प्रताप के बलिदान और अपने देश के लिए की गई उनकी सेवाओं को याद करते हुए कहा कि वह सच्चे देशभक्त और योद्धा थे। उन्होंने मुग़ल शासन के विरूद्ध आजीवन लोहा लिया और कभी उसकी आधीनता स्वीकार नहीं की। सन् 1576 के ऐतिहासिक हल्दीघाटी युद्ध में उनकी शूरवीरता के कारण ही मुग़लों को मुंह की खानी पड़ी थी।
उन्होंने राजपूत कल्याण सभा द्वारा अपने समुदाय के लोगों के लिए की जा रही सेवाओं की सराहना करते हुए कहा कि सभा समाज में व्याप्त बुराइयों और कुरीतियों के उन्मूलन के लिए प्रयासरत है। उन्होंने इस बात पर प्रसन्नता व्यक्त की कि राजपूत कल्याण सभा द्वारा धर्मगिरि में निर्मित किए जा रहे महाराणा प्रताप इन्टरनेशनल पब्लिक आवासीय स्कूल में 20 प्रतिशत स्थान ग़रीब बच्चों की निःशुल्क शिक्षा के लिए आरक्षित रहेंगे। 

मुख्यमंत्री श्री जयराम ठाकुर जी ने इस बात पर प्रसन्नता व्यक्त की कि हाल ही में सम्पन्न लोक सभा चुनावों में हिमाचल के लोगों ने सभी विधान सभा क्षेत्रों में भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवारों को बढ़त देते हुए, उन्हें भारी मतों से विजयी बनाया। उन्होंने कहा कि यह प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के ओजस्वी नेतृत्व और प्रदेश सरकार द्वारा पिछले 15 महीनों में किए गए कल्याणकारी और विकास कार्यों के कारण ही संभव हो पाया है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार समाज के सभी वर्गों के कल्याण और हितों के लिए समर्पित है, इसी के चलते सामान्य वर्गों के आर्थिक रूप से कमज़ोर लोगों के लिए सरकारी नौकरियों और शैक्षणिक संस्थानों में दस फ़ीसदी आरक्षण की व्यवस्था की गई है और लोकसभा चुनावों के बाद आयोजित पहली मंत्रिमण्डल की बैठक में इस आशय के प्रस्ताव को पास किया जाना, इस वर्ग के प्रति राज्य सरकार की प्रतिबद्धता को दर्शाता है।   
मुख्यमंत्री श्री जयराम ठाकुर जी ने इस अवसर पर राजपूत कल्याण सभा ट्रस्ट को महाराणा प्रताप इन्टरनेशनल स्कूल के निर्माण के लिए राज्य सरकार की ओर से 31 लाख रुपये की आर्थिक सहायता देने के अलावा, 51 लाख रुपये तक के निर्माण कार्यों में विकास में जन सहयोग के तहत निर्धारित मानदंडों को पूरा करने पर आर्थिक मद्द देने की घोषणा भी की। उन्होंने लोक निर्माण विभाग को स्कूल तक आने वाली क़रीब 800 मीटर तंग सड़क को चौड़ा करने तथा धर्मगिरि मठ तक जाने वाली लगभग 200 मीटर सड़क को पक्का करने हेतु आवश्यक सर्वे और प्राक्कलन शीघ्र पूरा करने के निर्देश दिये ताकि प्रस्तावित बजट मुहैया करवाया जा सके। उन्होंने राजपूत कल्याण सभा की ओर से ज़रूरतमंद लोगों, विधवाओं और मेधावी छात्रों को इस अवसर पर आर्थिक सहायता प्रदान की।   
कांगड़ा-चंबा संसदीय क्षेत्र के नवनिर्वाचित सांसद और राज्य सरकार के खाद्य् एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री किशन कपूर ने अपने संसदीय क्षेत्र के लोगों का धन्यवाद करते हुए कहा कि उनके सहयोग के कारण ही वे देश भर में सर्वाधिक प्रतिशत मतदान से विजयी हुए हैं। उन्होंने महाराणा प्रताप इन्टरनेशनल स्कूल के निर्माण में सहयोग हेतु सांसद निधि से 11 लाख रुपये की सहायता प्रदान करने की घोषणा भी की।
स्वास्थ्य मंत्री श्री विपिन परमार ने उपस्थित समुदाय को संबोधित करते हुए कहा कि महापुरूष किसी समुदाय विशेष से सम्बन्धित नहीं होते, बल्कि उनके कृतत्व समाज के सभी वर्गों को प्रेरणा प्रदान करते हैं। इस अवसर पर राजपूत कल्याण सभा के प्रधान एस.सी. परमार ने अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि यह कल्याण सभा विभिन्न सामाजिक कल्याण गतिविधियां के तहत केवल राजपूत ही नहीं, समाज के सभी वर्गों के ज़रूरतमंद लोगों की मद्द करती है। 
राजपूत कल्याण सभा ट्रस्ट के प्रधान कुलदीप ठाकुर ने राजपूत कल्याण सभा द्वारा संचालित विभिन्न कल्याणकारी गतिविधियों का ब्यौरा दिया। राजपूत कल्याण सभा के मुख्य सलाहकार टेक चंद राणा ने राजपूत कल्याण सभा के विभिन्न कार्यक्रमों और छात्रवृत्तियों के बारे में जानकारी देते हुए कहा कि यह सभा समाज के सभी वर्गों के कल्याण के लिए प्रतिबद्ध है।   
इससे पूर्व राजपूत कल्याण सभा के सचिव जे.एस. राणा ने उपस्थित मुख्य अतिथि तथा अन्य लोगों का स्वागत करते हुए अपने विचार व्यक्त किए।
इस अवसर पर विधायक सर्वश्री अरूण कूका, अर्जुन कुमार, रविन्द्र धीमान, मुल्ख राज प्रेमी, विक्रम जरियाल तथा रीता धीमान, पूर्व मंत्री रविन्द्र रवि, पूर्व सांसद कृपाल परमार, पूर्व विधायक सुरेन्द्र काकू उपायुक्त राकेश प्रजापति, एसपी संतोष पटियाल, धर्मगिरी मठ के महंत कर्मगिरी सहित अन्य गणमान्य व्यक्ति भी बड़ी संख्या में उपस्थित थे।

Comments