हिमाचल में हर्षोल्लास के साथ मनाया 70वां गणतंत्र दिवस

70वां गणतंत्र दिवस 26 जनवरी, 2019 को पूरे प्रदेश में उल्लास व उत्साह के साथ मनाया गया। राज्यपाल आचार्य देवव्रत जी ने शिमला स्थित ऐतिहासिक रिज मैदान में आयोजित राज्य स्तरीय गणतंत्र दिवस समारोह के अवसर पर राष्ट्रीय ध्वज फहराया और मार्च पास्ट की सलामी ली। राज्यपाल जी ने परेड का निरीक्षण किया और 22वीं राजपूत राईफल के कैप्टन विक्रम देव सिंह के नेतृत्व मे आकर्षक मार्च पास्ट की सलामी ली। लेडी गवर्नर दर्शना देवी तथा मुख्यमंत्री श्री जयराम ठाकुर जी व उनकी धर्मपत्नी डॉ. साधना ठाकुर जी भी इस अवसर पर उपस्थित रहे।
 इस दौरान सेना, भारत तिब्बत सीमा पुलिस, एस.एस.बी., पूर्व सैनिकों, राज्य पुलिस, होमगार्ड, स्काउट्स एवं गाइड्स, एन.सी.सी. तथा एनएसएस इत्यादि की टुकड़ियों द्वारा मार्च पास्ट प्रस्तुत किया गया। राज्य स्तरीय समारोह में प्रदेश के सभी जिलों के सांस्कृतिक दलों ने रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए। गणतंत्र दिवस समारोह के दौरान राज्य सरकार के विभिन्न विभागों द्वारा विकासात्मक गतिविधियों को प्रदर्शित करती झांकियां प्रस्तुत की गईं। महात्मा गांधी जी की 11 मई, 1921 में शिमला यात्रा पर आधारित विशेष झांकी आकर्षण का मुख्य केन्द्र रही।
जिला ऊना के सांस्कृतिक दल ने प्रथम स्थान, एनजेडसीसी राजस्थान ने द्वितीय तथा योगा प्रदर्शन दल ने तृतीय स्थान प्राप्त किया। इसी प्रकार झांकियों में उद्योग विभाग ने प्रथम स्थान, पर्यटन विभाग ने द्वितीय स्थान तथा जन मंच पर आधारित लघु नाटिका ने तृतीय स्थान प्राप्त किया। एनसीसी ‘लड़कियों’ की टुकड़ी ने प्रथम स्थान, एनसीसी ‘लड़कों’ की टुकड़ी ने द्वितीय स्थान तथा एनएसएस ‘लड़कियों’ की टुकड़ी को विशेष पुरस्कार से सम्मानित किया गया। राज्यपाल ने विजेताओं को पुरस्कार प्रदान किए। 
राज्यपाल ने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ियों को भी सम्मानित किया, जिनमें ज्योतिका दत्ता, नरेश कुमार, सुमिता मेहता, शिवम कुमार तथा अभिनव भास्कर शामिल हैं। शिक्षा मंत्री श्री सुरेश भारद्वाज, विधायक श्री विनोद कुमार तथा श्री बलबीर वर्मा, नगर निगम शिमला के उपमहापौर श्री राकेश कुमार, अतिरिक्त मुख्य सचिव एवं मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव डॉ. श्रीकांत बाल्दी, पुलिस महानिदेशक श्री एस.आर. मरड़ी, प्रशासनिक, पुलिस तथा सेना के अधिकारी सहित शहर के गणमान्य व्यक्ति तथा अन्य लोग इस अवसर पर उपस्थित थे। शिमला के अलावा प्रदेश के अन्य जिलों में भी 70वां गणतंत्र दिवस धूमधाम से मनाया।
मंडी जिला
जिला स्तरीय गणतंत्र दिवस समारोह मंडी के सेरी मंच पर हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। इस अवसर पर हिमाचल प्रदेश विधानसभा अध्यक्ष डा. राजीव बिंदल जी ने ध्वज फहराया तथा पुलिस, होमगार्ड, एनसीसी, एनएसएस, स्काउट एंड गाईड व स्कूली विद्यार्थियों की टुकड़ियों से सलामी ली। इस अवसर पर अपने सम्बोधन में डॉ. बिन्दल जी ने कहा कि प्रदेश सरकार ने समाज के सभी वर्गों विशेषकर कमजोर वगों का विकास सुनिश्चित बनाया है। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा गत एक वर्ष के दौरान अनेक कल्याणकारी योजनाएं आरम्भ की गई हैं। गत एक वर्ष के दौरान, केन्द्र सरकार से पर्यटन, कृषि-बागवानी, सिंचाई और पेयजल जैसे महत्वपूर्ण क्षेत्रों के लिए 9500 करोड़ रुपये की बड़ी परियोजनाएं स्वीकृत हुई हैं। उन्होंने कहा कि वर्तमान सरकार ने मंडी जिला में इस अवधि के दौरान 143 हैंडपंप स्थापित किए हैं और जिले के लिए ब्रिक्स के तहत 426 करोड़ रुपये की छः पेयजल योजनाएं तथा नाबार्ड के तहत 14 करोड़ रुपये की 10 पेयजल योजनाएं स्वीकृत की गई हैं, जबकि 260 हेक्टेयर भूमि को सिंचाई सुविधा उपलब्ध करवाई गई है। 

कुल्लू जिला
कुल्लू जिला में जिला स्तरीय गंणतंत्र समारोह ढालपुर मैदान में आयोजित किया गया। इस अवसर पर खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामले मंत्री श्री किशन कपूर जी ने ध्वजारोहण किया तथा पुलिस, आई.टी.बी.पी. होमगार्ड्स, एनसीसी, एनएसएस द्वारा प्रस्तुत भव्य मार्च पास्ट की सलामी ली। श्री किशन कपूर जी ने अपने सम्बोधन में कहा कि प्रदेश सरकार ने केन्द्र सरकार की उज्ज्वला योजना के तहत वंचित परिवारों को निःशुल्क गैस कनेक्शन उपलब्ध करवाने के लिए 12 करोड़ रुपये के बजट प्रावधान के साथ गृहिणी सुविधा योजना आरम्भ की है, जिसके तहत प्रदेश में 35000 निःशुल्क गैस कनेक्शन प्रदान करने का लक्ष्य रखा गया था, जिसे पूरा कर लिया गया है। सरकार ने लोगों की जरूरतों को देखते हुए इस योजना के लिए 10 करोड़ 75 लाख रुपये की अतिरिक्त राशि जारी की है। जिले की 2614 महिलाओं को निःशुल्क गैस कनेक्शन प्रदान किए जा चुके हैं, जबकि केन्द्र सरकार की उज्ज्वला योजना के तहत 6384 निःशुल्क गैस कनेक्शन प्रदान किए गए हैं। उन्होंने कहा कि जिले में 1,12,925 राशनकार्ड धारकों को 440 उचित मूल्य की दुकानों के माध्यम से सस्ता राशन प्रदान किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि जिले में गत एक वर्ष के दौरान 6,191 नए पात्र व्यक्तियों को सामाजिक सुरक्षा पेंशन के अधीन लाया गया है। 

ऊना जिला
जिला स्तरीय गणतंत्र दिवस समारोह राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला (छात्र) ऊना के प्रांगण में धूमधाम के साथ मनाया गया। शहरी विकास, नगर नियोजन एवं आवास मंत्री श्रीमती सरवीन चैधरी जी ने राष्ट्रीय ध्वज फहराया तथा मार्च पास्ट की सलामी ली। पुलिस, होमगार्ड, एनसीसी, एनएसएस, गाईड एंड स्काउट्स की टुकड़ियों द्वारा भव्य मार्च पास्ट प्रस्तुत किया। श्रीमती सरवीन चैधरी जी ने कहा कि प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना आयुष्मान भारत के अंतर्गत ऊना जिला में 6300 गोल्डन कार्ड बनाए गए हैं, जिसके माध्यम से इन परिवारों को 5 लाख रुपये तक मुफ्त इलाज की सुविधा मिल रही है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा ऊना जिला में भारतीय प्रौद्योगिकी शिक्षण संस्थान, पीजीआई चंडीगढ़ का सैटलाइट अस्पताल, मां एवं शिशु स्वास्थ्य संस्थान जैसे कई अन्य संस्थान स्वीकृत किए गए हैं। 

सोलन जिला 
सोलन जिला में भी 70वां गणतंत्र दिवस समारोह पूरे हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। कृषि, जनजातीय विकास एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री डॉ. रामलाल मारकण्डा जी ने ऐतिहासिक ठोडो मैदान में आयोजित जिला स्तरीय समारोह की अध्यक्षता की। उन्होंने राष्ट्रीय ध्वज फहराया तथा पुलिस, गृह रक्षा, एन.सी.सी. एवं स्कूली छात्रों द्वारा आयोजित भव्य मार्चपास्ट की सलामी ली। पुलिस उप निरीक्षक मुनीष कुमार ने परेड का नेतृत्व किया। कृषि मंत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री जयराम ठाकुर जी के नेतृत्व में प्रदेश सरकार हिमाचल को जहर मुक्त अन्न उत्पादित करने वाला राज्य बनाने के लिए प्रयासरत्त है। इस उद्देश्य की प्राप्ति के लिए महत्वाकांक्षी ‘प्राकृतिक खेती-खुशहाल किसान’ योजना आरंभ की गई है। योजना के तहत इस वर्ष 25 करोड़ रुपये खर्च किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा शिमला जिला के कुफरी तथा कांगड़ा जिला के पालमपुर में आयोजित प्राकृतिक खेती प्रशिक्षण शिविरों में 1150 से अधिक किसानों को प्रशिक्षण दिया गया है। सोलन जिला में 5 जागरूकता शिविरों में 537 किसानों को प्राकृतिक खेती की जानकारी दी गई है। उन्होंने कहा कि सोलन जिला में 122 किसान पूर्ण रूप से प्राकृतिक खेती कर रहे हैं।

बिलासपुर जिला
गणतंत्र दिवस का जिला स्तरीय गणतंत्र दिवस समारोह राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक छात्र पाठशाला बिलासपुर के खेल प्रांगण में आयोजित किया गया। स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री श्री विपिन सिंह जी परमार ने ध्वजारोहण कर भव्य मार्च पास्ट की सलामी ली। उन्होंने कहा कि लोगों को स्वास्थ्य की बेहतर सुविधाएं प्रदान करने के लिए प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना आयुष्मान भारत आरम्भ की गई है। उन्होंने बताया कि इस योजना से प्रदेश के 22 लाख लोग लाभान्वित होंगे। उन्होंने कहा कि आयुष्मान भारत योजना में कवर न होने वाले लोगों की सुविधा के लिए प्रदेश में हिम केयर नामक एक नई योजना आरम्भ की है। योजना के तहत प्रति परिवार 5 लाख रुपये तक निःशुल्क ईलाज का प्रावधान किया गया है। उन्होंने कहा कि बिलासपुर जिले के कोठीपुरा में लगभग 1350 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाले एम्स संस्थान का निर्माण कार्य आरम्भ कर दिया गया हैं जो लगभग 2 वर्षों में पूरा कर लिया जाएगा। उन्होंने कहा कि प्रदेश में महिलाओं को गुड़िया हेल्पलाइन और शक्ति बटन ऐप की शुरूआत करके महिलाओं को सुरक्षा प्रदान करने के लिए प्रभावी कदम उठाया है। इसके अलावा होशियार सिंह हेल्पलाइन भी शुरू की गई ताकि वन, खनन और ड्रग माफिया पर अंकुश लगाया जा सके।

हमीरपुर जिला
राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला छात्र हमीरपुर के खेल मैदान में आयोजित जिला स्तरीय गणतंत्र दिवस समारोह के अवसर पर ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज मंत्री श्री वीरेन्द्र कंवर जी ने ध्वजारोहण किया और पुलिस, होमगार्ड तथा विभिन्न स्कूलों के एनसीसी, स्काऊट एंड गाईड के बच्चों द्वारा प्रस्तुत शानदार भव्य मार्च पास्ट की सलामी ली। उन्होंने इस अवसर पर सम्बोधित करते हुए कहा कि ग्रामीण विकास विभाग द्वारा राज्य के ग्रामीण क्षेत्रों में पर्यावरण संरक्षण के लिए एक नया कार्यक्रम ‘एक बूटा बेटी के नाम’ आरम्भ किया है, जिसके तहत प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्रों में 15 लाख पौधे रोपित करने का लक्ष्य रखा गया है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा नशे को जड़ से समाप्त करने के लिए विशेष अभियान चलाया गया है, ताकि युवा पीढ़ी को इस सामाजिक बुराई से बचाया जा सके।

कांगड़ा जिला 
कांगड़ा जिले के धर्मशाला में जिला स्तरीय गणतंत्र दिवस समारोह हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। वन मंत्री श्री गोविन्द सिंह ठाकुर जी ने समारोह की अध्यक्षता की। उन्होंने राष्ट्रीय ध्वज फहराया तथा पुलिस, होमगार्ड और विभिन्न स्कूलों के विद्यार्थियों की एनसीसी, स्काऊट्स व गाईड्स तथा एनएसएस की टुकड़ियों द्वारा निकाले गए आकर्षक मार्च पास्ट की सलामी ली। वन मंत्री ने कहा कि प्रदेश में 800 करोड़ रुपये की 10 वर्षीय जायका परियोजना शुरू की गई है। इसका मुख्य उद्ददेश्य वन आवरण, घनत्व बढ़ाने के साथ-साथ स्थानीय लोगों के लिए वनों पर आधारित आजीविका प्रदान कर आमदनी बढ़ाने के अवसर उपलब्ध करवाना है। उन्होंने कहा कि सरकार ने चीड़ की पत्तियों पर आधारित उद्योग लगाने पर 50 प्रतिशत उपदान का प्रावधान किया है। वन एवं परिवहन मंत्री ने कहा कि प्रदेश में पर्यटन के बुनियादी ढांचे के विकास के लिए लगभग 1900 करोड़ रुपये की महत्वाकांक्षी परियोजना प्रस्तावित है। धार्मिक पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए भी 100 करोड़ रुपये की एक अन्य परियोजना केन्द्रीय पर्यटन मंत्रालय को स्वीकृति के लिए भेजी गई है। 

सिरमौर जिला
सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री डॉ. राजीव सैजल जी ने नाहन चौगान में जिला स्तरीय गणतंत्र दिवस समारोह की अध्यक्षता की। उन्होंने इस अवसर पर राष्ट्रीय ध्वज फहराया और मार्चपास्ट की सलामी ली। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा राज्य में समाज कल्याण के कार्यक्रमों पर इस वित्त वर्ष के दौरान 678 करोड़ रुपये की राशि व्यय की जा रही है। प्रदेश में 5 लाख 11 हजार 126 पात्र व्यक्तियों को सामाजिक सुरक्षा पेंशन प्रदान की जा रही है जबकि सिरमौर जिला में 32000 से अधिक पात्र व्यक्तियों को सामाजिक सुरक्षा पेंशन प्रदान की जा रही है। गत एक वर्ष के दौरान प्रदेश में लगभग एक लाख सामाजिक सुरक्षा पेंशन के नए मामले स्वीकृत किए गए। सिरमौर जिला में समाज कल्याण एवं अनुसूचित जाति उप योजना के तहत 86 करोड़ की राशि व्यय की जा रही है।

चम्बा जिला 
चम्बा के चौगान मैदान में जिला स्तरीय गणतंत्र दिवस समारोह की अध्यक्षता हिमाचल प्रदेश विधानसभा के उपाध्यक्ष श्री हंसराज जी ने की। इस अवसर पर उन्होंने राष्ट्रीय ध्वज फहराया तथा मार्च पास्ट की सलामी ली। 
राज्य की अगले वित्त वर्ष के लिए 7,100 करोड़ रुपये की वार्षिक योजना प्रस्तावित की गई है, जो वर्तमान वित्त वर्ष की योजना राशि से 800 करोड़ रुपये अधिक है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार द्वारा सामाजिक कल्याण तथा सैनिक कल्याण पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा मुख्यमंत्री स्वावलम्बन योजना आरम्भ की गई है जिसके लिए 80 करोड़ रुपये का बजट प्रावधान किया गया है। योजना के तहत उद्यमियों को 50 प्रतिशत का उपदान प्रदान किया जा रहा है, जबकि महिलाओं को 30 प्रतिशत उपदान दिया जा रहा है। प्रदेश में प्रथम चरण में 10 अटल आदर्श विद्या केन्द्र खोले जा रहे हैं, जहां विद्यार्थियों को निःशुल्क शिक्षा के साथ छात्रावास सुविधा भी उपलब्ध होगी।  

किन्नौर जिला
किन्नौर जिला के रिकांगपियो में भारी हिमपात के बावजूद जिला स्तरीय गणतंत्र दिवस समारोह हर्षोल्लास व उत्साव के साथ मनाया गया। कार्यवाहक उपायुक्त डॉ. मेजर अवनिन्द्र कुमार जी ने जिला स्तरीय गणतंत्र दिवस समारोह की अध्यक्षता की। उन्होंने इस अवसर पर तिरंगा फहराया तथा मार्च पास्ट की सलामी ली।

लाहौल-स्पीति जिला
जनजातीय जिला लाहौल-स्पीति के मुख्यालय केलंग में कड़ाके की ठंड व भारी बर्फबारी के बावजूद जिला स्तरीय गणतंत्र दिवस बड़ी धूमधाम के साथ मनाया गया। कार्यवाहक उपायुक्त अमन नेगी ने ध्वजारोहण किया तथा मार्च पास्ट की सलामी ली। उन्होंने प्रदेश सरकार की विभिन्न विकासात्मक योजनाओं के बारे में भी जानकारी दी।

Comments

Post a Comment