बेरोजगारी से न जूझे मेरे हिमाचल का युवा, कुछ ऐसा है लक्ष्य : मुख्यमंत्री

मेरे हिमाचल का युवा वर्ग बेरोजगारी की समस्या से जूझे, यह मैं नहीं देख सकता... इसलिए हमने इस समस्या का समाधान करने के लिए लक्ष्य निर्धारित किया है। इसके तहत कार्य भी शुरू किए गए हैं। यह कहना है कि प्रदेश के युवा एवं लोकप्रिय मुख्यमंत्री श्री जयराम ठाकुर जी का। सत्ता संभालने के बाद मुख्यमंत्री श्री जयराम ठाकुर जी के नेतृत्व वाली हिमाचल सरकार ने प्रदेश के प्रत्येक परिवार एवं युवा वर्ग को रोजगार तथा स्वरोजगार से जोड़ने के लिए रूपरेखा के तहत कार्य शुरू किए। साथ ही इससे संबंधित विभिन्न योजनाएं शुरू की। अधिकतर योजनाओं पर कार्य शुरू हो गए हैं। 25 अक्तूबर, 2018 को मुख्यमंत्री श्री जयराम ठाकुर जी ने जिला कांगड़ा का दौरा किया। कांगड़ा प्रवास के दौरान मुख्यमंत्री जी ने पुलिस मैदान धर्मशाला में राज्य ग्रामीण विकास विभाग द्वारा आयोजित राष्ट्रीय सरस मेला-2018 का उद्घाटन किया। इस मौके पर मुख्यमंत्री श्री जयराम ठाकुर जी ने अपने बजट घोषणा पत्र के अनुरूप मुख्यमंत्री युवा आजीविका योजना की शुरूआत की। इस योजना का लक्ष्य युवाओं को सशक्त करने के लिए व्यापार, दुकानों, रेस्तरां, यात्रा संचालक, साहसिक पर्यटन, पारम्परिक हस्तशिल्प इत्यादि व्यवसायों में स्वरोजगार शुरू करने के लिए उन्हें प्रोत्साहन प्रदान करना है। मुख्यमंत्री जी ने कहा कि यह महत्वाकांक्षी योजना 18 से 35 वर्ष के आयु वर्ग के सभी हिमाचली युवाओं को कवर करेगी। उन्होंने कहा कि पात्र युवाओं को बैंकों से 30 लाख रुपए तक के ऋण पर 25 प्रतिशत सब्सिडी प्रदान की जाएगी। इसके अलावा ऋण राशि पर 3 वर्ष की अवधि के लिए 5 प्रतिशत ब्याज अनुदान भी प्रदान किया जाएगा। महिला उद्यमियों के मामले में सब्सिडी 30 प्रतिशत होगी। मुख्यमंत्री जी ने कहा कि हमारी सरकार ने योजना के अन्तर्गत वर्तमान वित्त वर्ष के लिए बजट में 75 करोड़ रुपए का प्रावधान किया है। 

ग्रामीण क्षेत्रों के विकास बिना प्रदेश का चहुंमुखी विकास अधूरा
कांगड़ा प्रवास के दौरान मुख्यमंत्री श्री जयराम ठाकुर जी ने कहा कि उनके पिछले कार्यकाल में बतौर ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज मंत्री राज्य में सरस मेले का आयोजन किया गया था। धर्मशाला में यह मेला पहली बार मनाया जा रहा है। सरस मेले के आयोजन का मुख्य उद्देश्य स्वयं सहायता समूहों को बिना किसी बिचौलियों के अपने उत्पादों को सीधे खरीददारों को बेचने का अवसर प्रदान करना है। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार सबका कल्याण-सबका विकास-सबका साथ उद्देश्य के साथ कार्य कर रही है। मुख्यमंत्री जी ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों के विकास के बिना प्रदेश के विकास के बारे में सोचना संभव नहीं है, इसलिए हमारी सरकार प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्रों के विकास को विशेष महत्व दे रही है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ग्रामीण क्षेत्रों के स्वयं सहायता समूहों द्वारा तैयार किए गए उत्पादों को बेचने की बेहतर विपणन सुविधाएं प्रदान करने के प्रयास कर रही है।

‘नमस्ते धर्मशाला’ पुस्तिका का विमोचन
मुख्यमंत्री श्री जयराम ठाकुर जी ने धर्मशाला में सैलानियों को लाभान्वित करने की दृष्टि से ‘नमस्ते धर्मशाला’ पुस्तिका का विमोचन किया। इसके अलावा जन मंच कार्यक्रम का "लोगो" भी जारी किया।
साथ ही मुख्यमंत्री युवा आजीविका योजना की दिशा निर्देशिका भी जारी की।

प्रधानमंत्री मोदी जी की उदारता से मिली हिमाचल के विकास को गति
मुख्यमंत्री श्री जयराम ठाकुर जी ने कहा कि हमारी सरकार प्रदेश के सभी क्षेत्रों का विकास तथा सभी लोगों का कल्याण सुनिश्चित कर रही है। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र भाई मोदी की उदारता के कारण हिमाचल में विकास को गति मिली है। हिमाचल लगभग 10 वर्षों की अल्प अवधि के दौरान 9000 करोड़ रुपए की विकास परियोजनाओं को स्वीकृत करवाने में सफल रहा है। स्मार्ट सिटी जिला कांगड़ा के लोगों के लिए प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र भाई मोदी जी का उपहार है। उन्होंने कहा कि स्मार्ट सिटी पर कार्य में तेजी लाने के प्रयास किए जाएंगे। इसके अलावा केन्द्रीय विश्वविद्यालय भवन का निर्माण शीघ्र किया जाएगा। धर्मशाला तथा देहरा में एक ही दिन में विश्वविद्यालय की आधारशिला रखी जाएगी। जिला चम्बा में सीमेंट कारखाना लगाया जाएगा। हिमाचल में निवेशकों को आकर्षित करने के लिए भी प्रयास किए जा रहे हैं। मुख्यमंत्री जी ने कहा कि अगले वर्ष फरवरी माह में धर्मशाला में निवेशक सम्मेलन आयोजित किया जाएगा।

मुख्यमंत्री लोक-भवन योजना शुरू
मुख्यमंत्री श्री जयराम ठाकुर जी ने धर्मशाला प्रवास के दौरान प्रदेश के लिए मुख्यमंत्री लोक-भवन योजना का भी शुभारंभ किया। योजना के अन्तर्गत प्रदेश के सभी विधानसभा क्षेत्रों में 30 लाख रुपए की लागत से लोगों को विभिन्न सामाजिक कार्यक्रम आयोजित करने के लिए समुदायिक भवनों का निर्माण किया जाएगा। उन्होंने इस अवसर पर प्रदेश के कुछ खंड विकास कार्यालयों के विकास खंड अधिकारियों को 20 लाख रुपए की प्रथम किश्त भी जारी की।
धर्मशाला में मुख्यमंत्री श्री जयराम ठाकुर जी को राजकीय कन्या वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला धर्मशाला के शिक्षकों ने केरल के बाढ पीड़ितों व मुख्यमंत्री राहत कोष के लिए 51-51 हजार रुपए के चेक भेंट किए। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर विभिन्न योजनाओं के तहत लाभार्थियों को सहायता भी प्रदान की।

Comments

  1. बेरोजगारों को हक पाने के लिए कोर्ट जाना पड़े इससे बुरा एक बेरोजगार के लिए क्या हो सकता है

    ReplyDelete
  2. मैं आप से पूरी उम्मीद रखता हूं कि आप अपने कर्तव्यों से कभी भी पीछे नहीं हतोगे !

    ReplyDelete
  3. Hmare pas jameen nhi h Kai bar file jma ki koi kuch nhi bna hum pustene yhi se h sr pls help me

    ReplyDelete
  4. Kyu chutiya bnate ho sir JOA 727 me nye R&P DE kr apne hmari aisi ki taisi kr di

    ReplyDelete

Post a Comment